Skip to main content

Keynote

 
Afghan refugees in Greece
Twin Threats

How the Politics of Fear and the Crushing of Civil Society Imperil Global Rights

Essays

 
कार

प्राथमिकता बनाना

 हकमाइतनीसावबवौधभकहैजैसेहक:जफहकसीधशशुकाज भहोताहैतोधिहक सक,अधबबावक मा ज भ सहामक “रड़की” मा “रड़के” के आने की घोषणा कयते ह । वह ऩर बय का कामव हभाये जीवन के ववधब न ऩहरओु ॊ को धनधारवयत कयता है। मह कुछ ऐसा बी है जसऩय हभ सफ कबी नहीॊ कयते ह ।

रेहकनकुछरोगकयतेह ।उनकाधरगॊ उनकेरड़की/रड़केधनधायवणसेअरग कटहोताहैऔय ऩ ु ष मा भहहरा के अन म ऩय ऩयागत वविाय ऩय सटीक नहीॊ फठै ता।

रध गकववकासकाहकसीकेभौधरकअधधकाय काराबउठानेऩयकोई बावनहीॊहोनािाहहए,जसैे हक उनकी सयकाय ाया भा मता ा होने की सऺभता अथवा वा ्म सेवाओ,ॊ धशऺा मा योजगाय तक ऩहुॊि। रेहकन हहजड़ के धरए, मह शभनव ाक, हहॊसक औय कबी-कबी घातक तय ऩय होता है।

द ाॊस भडवय भोनीटरयॊग ोजे ट (The Trans Murder Monitoring Project) एक ऩहर जो ववि बय भ हहजड की ह मा की जानकारयम को एकवित कयता है औय वव ेषण कयता है, ने 2007 से 2014 के फीि ववि बय भ 1,731 हहजड़ की ह माओॊ को दजव हकमा। जसभ से कई खौपनाक ऩ से ू य कृधत के थे, जसभ कबी-कबी मातना औय अगॊ -वव छेदन बी स भधरत था।

हहजड़ के जीवन के धरए मऺ हहॊसा ही एक भाि खतया नहीॊ है। महाॉ तक हक ऩणू व आफादी की तरुनाभ एिआईवी(HIV)से तहोनेकीउनकीसबॊावना50गनुाअधधकहोतीहै;कुछहदतक म हक राॊछन औय बेदबाव उनके धरए वा ्म सेवाओॊ की ाध भ अवयोध उ ऩ न कयते ह । मनूाईटेड टे स(UnitedStates),कनाडा(Canada),औयमयूोऩ(Europe)केशोधभ स ुमव थत ऩािीकयण औय धनयादय के धतह मा व ऩ, हहजड़ के आ भह मा मास भ उ ि दय ऩाई ग है।

ऩायगभन भ अधधकाय:

देश सायाॊश

भरेधशमा (Malaysia), कु वतै (Kuwait), नाईजीरयमा (Nigeria) सहहत कई देश भ हहजड के अ त व को गयै काननू ी फनाते हुए काननू ऩारयत ह जसभ ववऩयीत धरगॊ के ऩ भ „हदखावट‟ धनषेध है।अ मफहुतसेदेश भ हहजड़ कोउनकाननू केअतॊगतव धगय तायहकमाजाताहैजोसभरध गक मौनािाय को अऩयाध फताते ह ।

मह डेटा उस बीषण हहॊसा औय बेदबाव के काय की भाि एक झरक हदखराता है जसका साभना हहजड़ को कयना ऩड़ता है। उस धरगॊ को काननू ी भा मता का अबाव जसभ वे ऩहिान, सह- अधधकाय औय सयु ऺा म कयते ह , योजभयाव के जीवन के मेक भोड़ ऩय जफ द तावेज भाॊगे जाते हैमाउऩ थधतकीछानफीनहोतीहैतोमहहहॊसाऔयअऩभानकीबयऩयूसबॊावनाहोनेकेसाथ फहुत से हहजड़ को ऩयदे भ जाने को फा म कय देता है।

काननूीधरगॊ भा मताकीभाॊगफहुतसीसयकाय भ नधैतकखरफरीउ ऩ नकयतीहै।रेहकनमह इसेरागूकयनेकीएकअ मतॊभह वऩणूवरड़ाईहै।महदहहजड़ासभदुाम कोजीववतयखनाहै,औय महद धनजता, भ ु अधब मव , औय धत ा के अधधकाय को सबी के धरए फनाए यखना है तो, भानवाधधकायआदॊोरन कोभा मताकेअधधकायभ भनाभानेढॊगसेफाधाउ ऩ नकयनेवारी दबुावनाऩणूवऔयबदेबावऩणूव ह माओॊको ाथधभकताकेआधायऩयसभा कयनेकीज यतहै। सयकाय को मह सभझना िाहहए हक उनकी धरगॊ ऩहिान के भौधरक अधधकाय को अ वीकाय कयना माअ मामऩणूवढॊगसे धतफधॊधतकयनेकाकाभया मकोअफऔयनहीॊकयनािाहहए।1

फदराव की रहय हारकेवष भ ,दधुनमाबयकेहहजड़ नेकाननूीभा मता ाध कीओयउ रखेनीम गधतकीहै।

अज टीना (Argentina) ने 2012 भ ़ाननू जो काननू ी धरगॊ भा मता के धरए वणव आदशव भाना गमा के साथ सायी हढमाॊ तोड़ दीॊ: कोई बी मव जो 18 वषव से ऊऩय है अऩनी रध गक ऩहिान िुन सकताहै,रध गकऩनुधनधवायणसेगजुयसकताहैऔयवफनाहकसी भखु माधमकमाधिहक सकीम अनभुधतकेअऩनेआधधकारयक ऩि कासशॊोधनकयसकताहै,औयफ िेअऩनेववधधक धतधनधध के सऻॊ ान से मा एक मामाधीश के सभऺ सऺॊ ेऩ ह मा के भा मभ से ऐसा कय सकते ह ।

1 हाराॊहक मह धनफधॊ हहजड़ ऩय क हित है, काननू ी धरॊग भा मता से सॊफधधत कई काननू ी औय नीधतगत सुधाय जनका भानवाधधकाय कत व म अधधदेश देते ह , अतॊ र धगक रोग के धरए थधत भ बी सुधाय कय सकते ह । अतॊ र धगक रोग जो ऐसे र धगक अधबरऺण के साथ ज भरेतेह हकऩ ुषमाभहहराशयीयकेऩय ऩयागतम ुभकवविायभ सटीकनहीॊफठैतीहै,उन ह अनोखीिनुौधतम औयअधधकाय के हनन का साभना कयना ऩड़ता है, जसभ हिवादी म ु भक धरॊग के ऩ भ उनको उऩ थत कयने के मास भ अनाव मक श म ह माओॊ के धरए वववश कयना बी स भधरत है।

page2image15472

इनवऩछरेतीनवष भ िायऔयदेश –कोरवॊफमा(Colombia),डेनभाकव(Denmark),आमयरड (Ireland), औय भा टा (Malta) ने काननू ी धरगॊ भा मता के धरए ऩ ऩ से भह वऩणू व फाधाओॊ को हटा हदमा है। मह ववकास उ ह उन देश से अरग कयता है जो मा तो एक मव को उनकी “ऩ ुष/भहहरा”ऩहिानकोफदरनेकीतधनकबीअनभुधतनहीॊदेताहै,माकधतऩमशत कोऩयूा कयनेऩयहीउ ह ऐसाकयनेकीअनभुधतदेताहै, जसभेश मह मा,जफयद तीफ ॊमाकयण, भनोधिहक सकीमभ ूमाकॊन,वहृद तीऺाअवधधऔयतराकआहदस भधरतह ।ऩहरीफाय,रोग अऩनीरध गकऩहिानको ऩि भ भहजउऩम ु पॉभवबयकयफदरसकतेह ।

धनभाणव की,महरफॊी ह मा ाम:उनसाहसी मव म ऩयहटकजातीहैजोअऩनेजीवनऔय ऩहिान अभिै ीऩणू व मामारम ाया धनधारव यत कयवाने के धरए सकॊ ऩवान होते ह ।

उदाहयणकेधरए,आमयरड का2015धरगॊभा मताववधेमक,वतभवानभ सेवाधनव ृद त- धिहक सक, रीहडमा पॉम (Lydia Foy) की 22 वषीम काननू ी रड़ाई का ऩरयणाभ था। फहादयु ी से काननूी ह माओकाफीड़ाउठातेहुए,उ ह नेघयेरूऔयअतॊया वीमभानवाधधकायस ॊथाओॊकीभदद से ज ह ने आमयरड को ऩहिान औय भानवाधधकाय ऩय न हक श म-ह माओॊ औय ववशेषऻ की यामऩयआधारयतरध गकभा मता ह मा थावऩतकयनेकोकहा,अऩने ीके ऩभ भा मताके भाभरे को आमयरड उ ि मामारम के सभऺ 1997 भ औय दोफाया से 2007 भ ततु हकमा। रगातायदफावकेफावजूदसभ-धरगॊीवववाहकेधरएजनभत-स ॊहभ अधबबतूकयदेनेवारी ववजम के फाद, सयकाय ने ऩहिान आधारयत काननू ी धरगॊ भा मता को थावऩत हकमा, ऐसा 2015 के ऩहरे कबी नहीॊ हुआ था।

द ऺण एधशमा भ – जहाॉ हहजड़ा (hijras), उन रोग के धरए ऩहिान णे ी जो ज भ के सभम ऩ ु ष ऩयफादभ भहहरारध गकऩहिानववकधसतकयरेतेह ,कोरफॊेसभमसेसा ॊकृधतकभा मता ा है,िाहेकाननूीभान म तानहो—कामकवताओवॊनेस फ उ े म:तीसयेधरगॊकीऔऩिारयकभा मता को आगे फिामा है। „हहजड़ा‟ एक ऩय ऩयागत ऩद, जसभे वववाह भ आशीवादव देना स भधरत है, ने कुछसयुऺाऔयहदखावटीस भान दानहकमाथा।रहेकनकाननू केसभऺदसूय कीबाधॊतसभान हदखनेके थानऩयवेअनोखेऔयगयै-भाभरूीसभझेजातेथे–एकअ त वजोसीभाओॊऔय हद ायाधनधारवयतथीनहकअधधकाय ाया।

तफ नेऩार के सवो ि मामारम ने 2007 के अधतय ॊ जत धनणमव भ , सयकाय को मव की “ व-अनबुधूत”ऩयआधारयतएकतीसयेधरगॊकी णेीकोभा मतादेनेकाधनदेशहदमा।महधनणमव माऩक ऩ से हार ही भ फनाए गए मो मकताव के धस ातॊ —मौन अधबवव मास, रध गक ऩहिान औय

भानवाधधकाय ऩयअतॊया वीमनीधतमाॊसहॊहताफ कयनेकेधरएऩहराद तावजे,ऩयआधारयतथा। धनणमवसेमकु त होकयकामकवताओवॊनेसयकायीस ॊथाओॊकेसाथतीसयीधरगॊ णेीकोभतदातासिूी

(2010), के िीम जनगणना (2011), नागरयकता के स भधरत हकमे जाने की सपरताऩवू कव वकारत की है।

ऩि (2013) औय ऩासऩोटव (2015) भ

इसी काय, 2009 भ , ऩाहक तान (Pakistan) भ सवो ि मामरम ने तीसये धरगॊ की णे ी को भा मता देने के धरए कहा, औय फाॊ रादेश (Bangladesh) भ , कैवफनेट ने हहजड़ को उनके खदु के ववधधक धरगॊ के ऩ भा मता देते हुए 2013 भ हड ी जायी की है। 2014 भ , बायत के सवो ि मामारम ने तीसये धरगॊ को भा मता देते हुए, “ मेक मव को अऩना धरगॊ िुनने का अधधकाय” की सऩॊ वु कयते हुए, औय हहजड़ को या म के क माणकायी काम व भ भ स भधरत कयने को कहते हुए एक वहृ द मामादेश जायी हकमा।

कुछदेश भ ,धरगॊऩहिानकेभरूउ े म ऩयऩछूताछहोयहीहै। मजूीरड (NewZealand)औय आ ेधरमा (Australia) अफ आधधकारयक ऩि भ अऩने धरगॊ को “अधनहदव ” धरखने का ववक ऩ देते ह , जफहक डि ससॊ द अफ मह वविाय कयना ाय ब कय िुकी है हक मा सयकाय को एक मव के धरगॊ को आधधकारयक ऩहिान के ऩि ऩय दजव कयाना िाहहए।

गरयभा का ववषम

उदहायण के धरए, म ू े न (Ukraine) भ हहजड़े जो काननू ी भा मता िाहते ह उ ह “धरगॊ ऩरयवतनव की इ छा”केधनदानकीऩवु माअ वीकायकयनेकेधरएएकअधनवामवअतॊयॊगभनोधिहक सकीम भ ू माकॊन जो 45 हदन तक िरता है; जफयन फ ॊ माकयण; कई धिहक सकीम ऩयीऺण जनभ ाम दीघकवाधरक धतफ ता, ममऔयमािाकीआव मकताहोतीहै,तथाजोहककाननूीधरगॊ भा मता ह माओॊ की आव मकताओॊ से कतई सफॊ धॊ धत नहीॊ है: औय आगे “धरगॊ ऩरयवतनव की इ छा” की ऩवु औय काननू ी ऩि भ फदराव के अधधकाय हेतु सयकायी सधभधत ाया एक अऩभानजनक वमै व क भ ूमाॊकनसेगजुयनाऩड़ताहै।मह ह माएॊ वा ्मकेअधधकाय कोभाननेभ ववपरहोतीह औय साथ ही हहजड़ को धनषेध अभानवीम मा धनकृ मवहाय भ झोक सकती ह ।

page4image14392

ववधब न भानवाधधकाय सधॊधम भ ववधध के सभऺ एक मव के ऩ भ ऩहिान का अधधकाय गायॊटीकृतहै,औय मेक मव कीगरयभावभह वको थावऩतकयनेकाएकभरूबतू ऩहरूहै। हाराॉहक, उन देश भ जो रोग को उस धरगॊ भ होने की भा मता देते ह जसके साथ वह ऩहिाने जाते ह , अऩे ऺत ह माओॊ से ाधथमव के धत अऩभानजनक औय हाधनकायक मवहाय हो सकता है।

टीनाटी(TinaT).,एक38वषीमम ूेधनमनहहजड़ाऔयतने भूनयाइ सवॉिकोफतामाहक भनोधिहक सकीमस ॊथाभ उसके वासकेदौयानकभिवारयम नेउसेसीखि औयरोहेकेदयवाज वारे अधत सयु ऺा वारे ऩ ु ष वाडव भ यखा। उसने फतामा हक उसे धतहदन एक 30 वगव भीटय के दामये भहज45धभनटघभूनेकीअनभुधतथी;शौिारमभ कुॊडीनहीॊथी जससेउसेअसयु ऺतभहससू होता था: औय धिहक सक ने उसे भहहरा हाभो स रेने के अनभु धत नहीॊ दी जफहक वह उनकी देखबारकेअतॊगतवथी।

मह मऺ हो सकता है: ऩहिान ह मा भ रोग को अवाॊधछत मा अनाव मक धिहक सकीम ह माओॊ हेतु वववश कयने का कोई थान नहीॊ है। हाराॊहक उन देश भ बी जो एरजीफीटी (LGBT) अधधकाय केसफॊधॊ भ वमॊको गधतवादीभानतेह , जनभ कुछऩ िभीमयूोऩीमऔयरहैटन अभेरयकी औय समॊ कु त या म शाधभर ह , अऩने ऩहिानऩि भ अऩने धरगॊ धि ह को फदरने के धरए हहजड़ को अबी बी गरयभावव ह माओॊ – महाॉ तक हक फ ॊ माकयण – के धरए फा म हकमा जाता है। काननू ी धरगॊ भा मता ा कयने के मे नकाया भक ऩरयणाभ मव की भह वऩणू व सेवाओॊ तक सगु मताऔयहहॊसाएवॊबदेबावसेभकु त सयु ऺतढॊगसेयहनेकीव म व कीऺभताओॊकोगबॊीय औयनकुसानदामक ऩसेसीधभतकयतेह ।

अ म अधधकाय के धरए वेश ाय

काननू ी धरगॊ भा मता अ म भौधरक अधधकाय का एक अ माव मक त व है – जसभ धनजता का अधधकाय, अधबमव की वतिॊ ता का अधधकाय, भनभानी धगय तायी से भ ु होने का अधधकाय औय योजगाय,धशऺा, वा ्म,सयुऺा, माम ाध तथाभ ु ऩसे भणसफॊधॊीअधधकाय स भधरत ह ।

अ टूफय 2015 भ हद री उ ि मामारम का धनणमव काननू ी धरगॊ भा मता औय अ म अधधकाय के भ म ता वक सफॊ धॊ थावऩत कयता है। एक 19 वषीम हहजड़े ऩ ु ष के अधधकाय को उसके भाता- वऩताऔयऩधुरसकेउ ऩीडनवव सहायेकेअधधकायको थावऩतकयतेहुए, मामाधीशधस ाथव भदृ रु (Siddharth Mridul) ने धरखा :

रध गकऩहिानऔयमौनअधबवव मास व-धनधायवण,आ भ-स भानऔय वतिॊता के अधधकाय के आधाय ह । मे वतिॊ ताएॊ वमै व क व व एवॊ मव गत वतिॊ ओॊ के दमभ यहतीह ।एकहहजड़े[ मव ]काधरगॊकाफोधमाअनबुवउनकेभरू मव व औय होने के फोध का एकीकयण है। जहाॉ तक भझु े ़ाननू की सभझ है, मेक मव का उसके िुने हुए धरगॊ भ ऩहिान उसका भौधरक अधधकाय है।

page6image376

योजगाय औय धनवास

हहजड़े रगाताय मह फताते यहे ह हक जफ मह सावफत हुआ हक उनकी उऩ थधत उनके आधधकारयक ऩि भ रध गकऩहिानसेभेरनहीॊखातीतोउ ह नौकयीऔयघयकेधरएअनऩुम ु कयायहदमा जाताहै।मएूसभ ,2011भ हहजड़ कीसभानताऔयया ीमएरजीफीटी मू(LGBTQ)टा कपोसव ाया हकमे एक या ीम सवऺे ण भ ऩामा गमा हक जन धतवाहदम के ऩहिान ऩि भ उनके धरगॊ के साथ उनका “धभरान” नहीॊ हो यहा था, 52% धतवाहदम ने ज ह ने अऩने को ऩि भ अऩने धरगॊ धि हकोअऩडेटकयामाथा,कीतरुनाभ 64%नेकहाहकउ ह नौकयीऩययखेजानेभ बेदबावका अनबुवकयनाऩड़ा।इसीतयहकेबेदबावकेसफतूधभरेजफहहजड़ेवफना“धभरान”द तावेज के हकयाए मा खयीदने के धरए घय मा अऩाटवभट तराश यहे थे।

शयन(Sharan),भरेधशमाकीएकहहजड़ाऔयत,ने भूनयाइ सवॉिकोफतामाहकम वऩवह एक ी के ऩ भ हदखाई देती है, भरेधशमा भ काननू ी धरगॊ भा मता के अबाव का भतरफ है हक उसेनौकयीकेधरएआवदेनकयतेसभमऩ ुषऩहिानद तावेज ततु कयनािाहहए।उसनेनौकयी केइॊटय मूभ अऩनेअनबुवकोव णतवहकमाहै:

जफभ इॊटय मूकेधरएजातीहूॉतोऩ ुषइॊटय मअूयहोनेऩयउसकाऩहरा होताहै,„ मा आऩके तन असरी ह ? आऩने फदरने का पैसरा कफ हकमा?‟ भ सभझाती हूॉ हक भ एक हहजड़ा औयत हूॉ। „त ु हाया धरगॊ है मा मोधन है? तभु ऩ ु ष मा भहहराओॊ के साथ मौन कयती हो?तभु कौनसेशौिारमभ जातीहो? मात ुहायाऑऩयेशनहुआहै?तभुनेहॉभोनरेने कािमन म हकमा?‟महनौकयीकेसाथसफॊधॊधतनहीॊहै.....औयवेआऩसेकह गेहक आऩकोदोस ाहभ कॉरहकमाजामेगा,रहेकनकोईकॉरनहीॊआता।

धशऺा

हहजड़ाफ िेऔयमवुावम क को कूर भ मौनउ ऩीड़न,गारी,एकर-धरगॊ कूरभ ऩिनेके धरएभजफयूहकमाजानामाज भकेसभमधनधारवयतधरगॊकेआधायऩयकऩड़ेऩहननेजसैे उ ऩीड़न का साभना कयना ऩड़ता है।

जाऩान(Japan)भ ,जूधनमयहाईऔयहाई कूरकेछाि ने भूनयाइ सवॉिकोफतामाहक ऩ ुष/भहहरामधूनपाभवसफॊधॊीसख त नीधतमाॊजोफ ि को“धरगॊ ऩहिानववकाय”केधनदानकेवफना मधूनपाभवफदरनेकीअनभुधतअ सयनहीॊदेतीह ,उनफ ि कोअ मधधकधिॊता स तकयदेतीह औय इस कायण वे फहुत हदन तक कूर नहीॊ जाते मा कूर जाना छोड़ देते ह । कुछ रोग का

कहना था हक देश की काननू ी धरगॊ भा मता ह मा, उ ह वविवव ारम भ वेश कयने मा अऩनी धरगॊऩहिानकेअनसुायनौकयीकेधरएआवेदनकयनेसेऩहरेधरगॊऩनुधनहवदवव कयणसजयवीका आदेशदेतीहै,जोउनऩयवम कहोनेसेऩहरेऩयूी ह मासेगजुयनेकेधरएदफावडारतीहै।

भरेधशमा भ , सघॊ ीम या म ऺेि का धशऺा ववबाग (कु आरारऩॊ यु (Kuala Lumpur)) भ सभरध गकता औय“धरगॊ भ”कीबेदबावऩणूवनीधतकेधरएदॊड,धनरफॊन,औयधन कासनकीसजादीजातीहै।

भा टा धशऺा के धरए हहजड़े फ ि के अधधकाय को ऩहिानने भ अ णी फन गमा है: अ रै 2015 भ काननू ी धरगॊ भा मता ा होने के फाद, सयकाय ने कू र भ धरगॊ की ऩहिान ना देने वारे छाि को बतीकयन,ेमधूनपाभवऔयशौिारमसेसफॊधॊधतभ ु कासभाधानकयनेकेभाध म भसेशाधभरकयते हुए माऩक हदशाधनदेश को ऩारयत हकमा।

वा ्म देखबार

उनके धरगॊ के अन ु ऩ ऩहिान द तावेज की अनऩु थधत के कायण हहजड़ को वा ्म के धरए गहनऩछूताछऔयअऩभानकासाभनाकयनाऩड़ताहै।एरयना(Erina),भरेधशमाकीएकहहजड़ा भहहराकोतजे फखुायहोनेकेकायण2011भ दोहदन केधरएअ ऩतारभ बतीहकमागमाथा। उसने भूनयाइ सवॉिकोफतामाहकउसकेऩहिानऩिऩय“ऩ ुष”धि हहोनेकेकायणउसके आ ह कयने ऩय बी उसे भहहरा वाडव की जगह ऩ ु ष वाडव भ यखा गमा। डॉ टय औय नस ने उसकी धरगॊऩहिानकेफायेभ फहुतसाये हकम,ेजफहकवे उसकेउऩिायकी थधतसेसफॊधॊधत नहीॊ थे।

जहाॉ हहजड़ा की ऩहिान अऩयाधीकयण के साथ की जाती है, वहाॊ उनका वा ्म देखबार ा कयना औयबीकहठनहोताहै।कुवतै भ ,एकहहजड़ाभहहराने भूनयाइ सवॉिकोफतामाहकउनकी आईडीकाउनकीहदखावटऔय तधुतकेसाथभेरनाखानेऩयधिहक साडॉ टय नेऩधुरसको सिूनादी, जससेउनका वा ्मदेखबारकाउऩमोगसीधभतहोगमा।

मगुाॊडा(Uganda)के ायापयवयी2014भ कु मातसभरध गकताववयोधीअधधधनमभऩारयतहोनेके फाद,काननू वतनव अधधकारयम औयआभनागरयक नेसभरध गक,सभरध गकऔयउबमधरगॊीरोग केसाथहहजड़ेरोग कोधनशानाफनामा।जेएभ.,एकहहजड़ाऩ ुष,ने भूनयाइ सवॉिकोफतामा हकजफवहफखुायकेधरएदवारेनेगमातफ,

डॉ टयनेउसेऩछुा,„ मातभु ऩ ुषमा ीहो?‟भन ेकहा,„इससेकोईपकवनहीॊऩड़ता, रेहकन भ आऩको फता सकता हूॉ हक भ हहजड़ा ऩ ु ष हूॉ।‟ उसने कहा, „हहजड़ा ऩ ु ष हकसे कहते ह ? हभ महाॉ सभरध गक रोग का उऩिाय नहीॊ कयते ह । आऩ रोग को तो हभाये सभदुामभ बीनहीॊहोनािाहहमे।भ ऩधुरसकोकॉरकयत ुहायीरयऩोटवबीकयसकताहूॉ....‟

अतॊ भ जमनेडॉ टयको50,000मगुाॊडाधशधरगॊ काबगुतानहकमा(रगबग14अभयीकीडॉरय) औय ऑहपस से बाग गमा।

मािा

जन रोग के द तावेज उनकी अधब मव के साथ धभरान नहीॊ कयते उनके धरए एक थान से दसू ये थानऩयजानाएकखतयनाकऔयशभनवाकअनबुवहोसकताहै।अतॊयया ीम तयऩयववशेष ऩ से उनके दय ऊॊ िे होते ह , औय उनऩय धोखाधड़ी के आयोऩ औय अऩभान के आयोऩ रगामे जाते ह ।

नीदयरड (Netherlands)भ एकहहजड़ाभहहराने भूनयाइ सवॉिकोफतामा:“जफभ अतॊयया ीम तयऩयमािाकयतीहूॉतोअ सयभझुेराइनसेफाहयधनकरकयऩछूताछकीजातीहै; रोग को रगता है हक भन े अऩना ऩासऩोटव िुया धरमा है।” कजाख तान (Kazakhstan) भ एक हहजड़ा ऩ ु ष ने फतामा: “हय फाय अ भाटी भ हवाई अ डे ऩय जाते सभम—सबी िाय फाय—सयुऺा अधधकारयम ने भझु े अऩभाधनत हकमा है।” उसने फतामा हक कै से “ऩहर,े गाडव द तावजे को देखता है; हपयभेयीओयदेखताहैऔयऩछूताहैहक मािरयहाहै;हपयभ उसेफताताहूॉहकभ हहजड़ाहूॉ; हपय भ अऩने धिहक सकीम भाण-ऩि हदखाता हूॉ; हपय वह अऩने सबी साधथम को इक ठा कयके भेये ऊऩय हॉसते ह , औय फाद भ भझु े जाने हदमा जाता है।”

समॊ ु या भानवअधधकायववशेषऻ नेसयुऺा ह माओॊभ हहजड़ केसाथहकमेजानेवारे मवहाय कीधनदॊाकीहै।

ऩुधरस सुयऺा औय माम का उऩमोग

काननू केसभऺफधुनमादीभा मताकीकभीकेकायणअऩयाध कोफिावाधभरताहैऔयआफादीको हहॊसा जैसी भह वऩणू व सभ मा का साभना कयना ऩड़ता है। भेर नहीॊ खाने वारे द तावेज को साथ यखनाद ुऩमोगभानाजासकताहैऔयअधधकायीम कोइसकीसिूनादेनेऩयभाभराफदतयहो जाता है।

भो फासाके मा(Mombasa,Kenya)भ ,एकहहजड़ाभहहरा,फेव ना(Bettina),ने भूनयाइ स वॉि को फतामा हक अ टूफय 2014 भ होभोपोवफक औय ाॊसपोवफक हभर के दौयान जहाॊ वह खाना फेितीथीउसफाजाय टारकोवदॊर नेन कयहदमा।जफफेव नानेऩधुरसकोअऩयाधकीसिूना दी,तोउ ह नेउसकेधरगॊ कीऩहिानकेफायेभ अनके हकमेऔयउसकी थधतऩयकामवाही कयनेकेधरएकेसनफॊयदेनेसेइनकायकयहदमा।“भ वाऩसआगई, म हकभेयेधरएवहाॊकोई सवुवधानहीॊथी,”उसनेकहा।

हहॊसा से भुव

कई देश भ , हहयासत भ हहजड़ को अ म धरगॊ के रोग के साथ यखा जाता है जससे, वे द ु ऩमोग औयमौनहहॊसाकेधशकायहोतेह ।मएूनकामारवम ायानशीरीदवाओॊऔयअऩयाधभ कायावासऩय अतॊयया ीमहदशाधनदेशजायीकयतेहुएसिेतहकमाहक,“हहजड़ कोउनकेज भधरगॊकेअनसुाय जहाॉ ठहयामा जाता है जहाॊ ऩ ु ष से भहहरा फने हहजड़ा कै दी को ऩ ु ष के साथ यखा जाता है तो वे मौन द ु मव हाय औय फरा काय के धशकाय हो सकते ह ।”

मएूसभ जहाॊअधधकाॊशदॊडा भकसवुवधाएॊकैहदम कोउनकेज भधनहदव धरगॊ केआधायऩयनहक ऩहिानकेआधायऩयवाडवभ धनहदव कयतीह ,सेसफॊधॊधतडेटादशातवाहैहकतीनभ सेएकहहजड़े कै दी के साथ जेर भ मौन दषु कभहव ोता है।

धनजता

सयकाय का रोग को जस धरगॊ के साथ वे ऩहिाने जाते ह भा मता देने को अ वीकृधत धनजता के अधधकायकेउ रघॊनकेफयाफयहै।2002भ मनूाईटेडहकॊगडभकेएकभाभरेभ मयूोऩीम भानवाधधकाय न म ामारम ने ठहयामा हक ऩहिान ऩि औय काननू ी ऩहिान भ फदराव की अ वीकृ धत मव गत जीवन के स भान के अधधकाय के उ रघॊ न व बेदबाव के सभान हो सकती है। 2003 भ एक दसू ये भाभरे भ मामारम ने ऩामा हक जभनव ी (Germany) “खुद को भहहरा के तौय ऩय ऩरयबावषतकयनेकीआवेदककीस व तॊिॊता,आ भधनधायवणकेसवाधवधकभरू अधनवामतवाओॊभ से एक” का स भान कयने भ असपर यहा है।

वतॊिता का भूरबूत अधधकाय

फहुत साये देश भ , हहजड़ का भाि हहजड़ा होने ऩय अऩयाधी भान धरमा जाता है। भरेधशमा का या म शयीमत काननू “ऩ ु ष को भहहरा की तयह हदखने” औय, कु छ या म भ , “भहहरा को ऩ ु ष की तयह हदखन”े के धरए धनषधे कयता है औय इसके कायण कई हहजड़ को या म के धाधभकव अधधकारयम ाया

ज भ के सभम उनके धनहदव धरगॊ के अन ु ऩ कऩड़े ना ऩहनने ऩय सड़क ऩय िरने के धरए धगय ताय हकमा जाता है। उ ह कायावास, जुभानव मा अऩरयहामव “ऩयाभशी” सि की सजा दी जाती है।

नाइजीरयमा, कु वतै (Nigeria, Kuwait), समॊ ु अयफ अभीयात औय सऊदी अयफ भ बी हार के वष भ “ ॉस- ेधसगॊ ” के धरए रोग को धगय ताय हकमा गमा है; हाराॊहक सऊदी अयफ (Saudi Arabia) भ कोई काननू ववशेष ऩ से हहजड़ को अऩयाधी नहीॊ ठहयाता, रेहकन सऊदी के मामाधीश ने ऩ ु ष के ाया भहहराओॊ जैसा फताव कयने ऩय उ ह कै द औय कोड़े भायने का आदेश हदमा है।

एकहीधरगॊ केसाथमौनकयना धतफधॊधतकयनेवारेकाननू बीहहजड़ाऔयऩवु नाहुएरोग को धगय ताय कयने के धरए उऩमोग हकमा जाता है—इस त्म ऩय मान हदए वफना हक धरगॊ ऩहिान का मौनअधबवव मासमामौन मवहायकेसाथकोई मऺस फ धनहीॊहै—जैसाहक भूनयाइ स वॉिनेभरावी(Malawi),मगुाॊडा(Uganda)औयतजॊाधनमा(Tanzania)भ रे खतहकमाहै।

हहजड़ को अ म दसू ये कऩटऩणू व कायण से धगय ताय हकमा जाता है, नेऩारभ (Nepal), 2006 औय 2007भ ऩधुरसनेसावजवधनक थान कोसापकयनेकेतहतहहजड़ाभहहराओॊकोधगय तायहकमा औयउनकेसाथमौनद ुमवहायहकमा।बायतभ 2008भ ऩधुरसनेइसी कायके“साभा जक सपाई” के मास के बाग के ऩ भ हहजड़ा भहहराओॊ को धगय ताय हकमा औय जफयन फेदखरी का धनशानाफनामा।2013भ फभाव(Burma)भ ऩधुरसने10सभधरगॊीऩ ुषऔयहहजड़ाभहहराओॊको भनभाने ढॊग से धगय ताय हकमा औय कायावास के दौयान उनके साथ द ु मव हाय हकमा।

इस काय के द ु मव हाय के फहुत से धशकाय के धरए, एक बवव म जसभ वे काननू ी ऩ से भा म हो सकते ह – औय जसभ उनके धरए उनका हहजड़ा होना कैद भ डारने का खतया औय नहीॊ होगा- फहुत दयू की कौड़ी रगता है। इन मव म की काननू ी धरगॊ ऩहिान के धरए सघॊ षव कयने के धरए ता काधरकताकाकायणउ ऩीड़नहै।महदशातवाहैहकया मकोरोग कीऩहिानकेनीधतधनधायवण भ नहीॊ ऩड़ना िाहहए।

धिहक सकीम सोि भ एक फदराव

मो मकयता धस ाॊत कहते ह हक मेक मव की व धनधारवयत मौन अधबवव मास औय रध गक ऩहिान“उनके मव वकेधरएभह वऩणूवहै”औयआ भधनणमव,गरयभा, वतिॊताकाभरूबतूऩहरू है। उ ह ऩता है हक धरगॊ की ऩहिान भ , “महद वे छा से (हभाया जोय), धिहक सकीम, श मह मा मा अन म उऩाम से शायीरयक व ऩ मा कामव भ हकमा गमा फदराव शाधभर हो सकता है।”

सीधे श द भ कह तो धरगॊ भा मता ह मा हकसी धिहक सकीम ह तऺेऩ से अरग होनी िाहहए। रेहकन महद हकसी मव का वमै व क ऩरयवतनव धिहक सकीम सहामता की आव मकता यखता है ऐसी सेवाएॊ उऩर ध औय तो ा होनी िाहहए।

2010भ वविहहजड़ा वा ्म ोपेशनरसघॊ(ड रऩूीएटीएि(WPATH)),अतॊययाष ीम फहुअनशु ासकीम ऩेशेवय सघॊ ने कहा: “हकसी बी मव के धरए ऩहिान भा मता श मधिहक सा मा फ ॊमाकयण ऩीहकसीशतवको वीकायकयनानहीॊहोनािाहहए।”2015भ, ड रऩूीएटीएिनेअऩने दावे के दामये को फिामा औय सयकाय को “अनाव मक फाधाओॊ को सभा कय हहजड़ को धरगॊ की ऩहिान, मेक मव के धरगॊ को ़ाननू ी भा मता, औय ऩहिान के द तावेज ऩय धरगॊ धि हक ा कयनेकेधरएसयरऔयसरुब शासधनक ह माओॊकोफनामाजानािाहहमे।”

ववि वा ्मसगॊठन2018तकयोग केअतॊया वीमवगीकयणकेअऩनेसशॊोधधतस ॊकयणकेधरए फड़े फदराव ऩय वविाय कय यहा है, इससे दधु नमा के कई धिहक सक के तयीक भ फदराव आएगा औयहहजड़ केअनबुवबीवगीकृतह गे। ताववतसशॊोधन,जोहकअबीबीएकभसौदेके ऩभ है,इससेहहजड़ सेसफॊधॊधतधनदानकोभानधसकववकाय केअ मामसेधनकारहदमाजाएगा—मह हहजड़ को करकॊ से भ ु कयने का एक भह वऩणू व कदभ होगा।

ऩायगभन ववशेषाधधकाय एक धतभान

दधुनमाबयभ हहजड़ाकामकवताओवॊके भसाध म कामवसेसीखतेहुए,अतॊयया ीमभानवाधधकाय आदॊोरननेधीये-धीयेधरगॊऩहिानऔयअधबव म व केआधायऩयभानवाधधकाय केउ रघॊनको भा मता देना आयॊब कय हदमा है।

भानवाधधकायउ िाम ु कामारवम ाया2011भ मौनअधबवव मासऔयधरगॊ ऩहिानकेआधायऩय हहॊसाऔयबेदबावसफॊधॊीएकमगुाॊतयकायीरयऩोटवभ नोटहकमागमाथाहकअधधकाॊशदेशववधधक धरगॊ भान म ताकीअनभुधतनहीॊदेतेह , जससेहहजड़ कोयोजगाय,आवासन,फक ेहडटमायाज म के राब मा ववदेश मािा के धरए आवेदन कयने सहहत कई कहठनाइम का साभना कयना ऩड़ सकता है।2015भ जायीकीगईअनवुतीरयऩोटवभ 10देश भ गधतकीऩहिानकीगई,रेहकनउसभ ऩामा गमा हक गधत भ सभ कभी हहजड़ के फहुत से अधधकाय को धनयॊतय बाववत कय यही थी।

ववधधक ऩ से धरगॊ भान म ता औय इसकी अतॊ यवगीम धनताॊत आवश म कता दोन ऩय गहन ध म ान देने को इॊधगत कयते हुए, समॊ कु त याष की 12 तकनीकी एज धसम –मनू ीसेप (UNICEF) से ववश व खा काम व भ- ने 2015 भ समॊ कु त वववयण भ सयकाय से मह सधुन ित कयने का आ ान हकमा हक

“हहजड़ की धरगॊ ऩहिान की ववधधक भान मता को वफना दवु म वहव ायऩणू व अऩेऺाओॊ जैसे जफयन फधॊ म ाकयण, उऩिाय मा तराक के ऩणू व की जाए।” अ रै 2015 भ सयकाय को व- धतफ ता ऩय आधारयत वरयतएवॊऩायदशीरध गकभा मता हकमाअऩनानेकेधरएकहतेहुएमयूोऩकी काउ सरनेइसकीससॊदीमसबा ायाअऩनामाएक तावजायीहकमा।

***

काननू रोग को एक ऩहिान धि ह जससे मह दधशतव नहीॊ होता हक वह कौन ह यखने के धरए फा म नहीॊ कय सकता। काननू भ रोग के स व -ऩहिान हकए धरगॊ को भान म ता देते हुए सयकाय से हकसी नए मा ववशेष अधधकाय को स वीकाय कयने के धरए नहीॊ कहा जा यहा है; इसकी फजाए मह भखु वविाय के धरए धतफ ता है हक याज म मा अन म अधधकायी रोग के धरए धनणमव न कय हक वे कौन ह ।

काननू ी धरगॊ भा मता का अधधकाय ा कयना हहजड़ के हाधशए के जीवन को ऩीछे छोड़ने औय जीवनकीगरयभाकाआनदॊ उठानेकीऺभताके धरएभह वऩणू वहै।कैसेरोग काधरगॊ म औय दजवहोनागधत ा कययहाहै,धनधारवयतकयनेकेधरएरोग को वाम ाकीअनभुधतकीओयएक सहजऩरयवतनव।महरफॊेसभमसेअऩे ऺतहै।

भूनयाइ सवॉिकेएरजीफीटीखॊडभ नीराघोषारएकवरय शोधकतावऔयकाइरनाइटएक शोधकताव ह ।