भारत में यौन हिंसा उत्तरजीवी विकलांग महिलाओं और लड़कियों को न्याय व्यवस्था तक पहुंचने में बड़ी-बड़ी बाधाओं का सामना करना पड़ रहा है, आज ह्यूमन राइट्स वॉच ने अपनी एक नई रिपोर्ट में यह कहा है. पांच साल पहले, सरकार ने यौन हिंसा मामलों के लिए महत्वपूर्ण सुधार किए थे, लेकिन इसके कार्यान्वयन में गंभीर कमियां मौजूद हैं. विकलांगता अधिकार कार्यकर्ता और रिपोर्ट की सह-लेखिका निधि गोयल ने कहा, "साल 2013 के बाद से भारत ने यौन हिंसा पर महत्वपूर्ण क़ानूनी सुधार किए हैं, लेकिन विकलांग महिलाओं और लड़कियों की अभी भी न्याय तक समान पहुँच नहीं बन पाई है. विकलांग भारतीय महिलाओं और लड़कियों को अब यौन हिंसा का अदृश्य शिकार बने नहीं रहना चाहिए."